Pageviews past week

Sunday, November 10, 2013

mooli (radish) ka saag

वैसे तो हम सभी मूली बहुत पसंद करते हैं ,पर हमारे घर में मूली से ज्यादा मूली के पत्तों का साग बहुत पसंद किया जाता है ,जब भी मूली लेते है तब खासकर उसके पत्ते अधिक डलवा लेते हैं ताकि साग बना कर पराठों के साथ नास्ते में खा सकें। और आप यकीन मानिये ये साग सचमुच बहुत अच्छा लगता है …

यूँ तो पालक का साग ,सरसों का साग ,सोया -मेथी का साग तो बहुत खाया आज ये भी try  कीजिये। . 

सामिग्री------

  • मूली के पत्ते १ गड्डी। 
  • मूली १ नग।
  • मेथी दाना १/२ छोटा चम्मच।
  • लहसुन की कली (clove ) ६ नग। 
  • सूखी लाल मिर्च २ नग। 
  • नमक स्वादानुसार (approximately)१/२ tsp . 
  • घी १ छोटा चम्मच।

विधि--------

  • मूली के पत्ते पहले २ से ३ पानी में अच्छी तरह से धो लें और पानी सुखा कर बारीक -बारीक काट लें। 
  • मूली धोकर छोटे टुकड़ों में काट लें। 
  • लहसुन को बारीक काट लें और मिर्चों को तोड़ लें। 
  • अब कड़ाही में घी गरम करें ,मेथी दाना pop कर लें और लहसुन को गुलाबी होने तक भून लें फिर तोड़ी हुई मिर्च डालें साथ ही मूली का साग और कटी हुई मूली डाल दें। 
  • नमक डालकर अच्छी तरह से चला कर ढककर धीमी आंच पर ५ से ८ मिनट के लिए पका लें। 
  • गरमागरम पराठों या चपाती के साथ खाएं।

टिप्स ----आप इस साग को उरद की  छिलके वाली दाल के साथ भी बना सकते हैं और उस स्थिति में दाल को पहले कम पानी में पकाना होता है फिर साग मिलाकर भूनना होता है। साग के पानी को अच्छी तरह सुखा लें।