Pageviews past week

Saturday, December 31, 2016

kharcha mithai / doodh Mohan / खर्चा मिठाई/ दूध मोहन

Milk Mohan or Milk Flower or traditional name kharcha mithai  is a sweet dish which is mostly made in Lucknow or Faizabad side area.
It is made by making small balls of maida and coating them with dry fruits and sugar and then adding them to the milk.
This recipe is very close to my heart because my sister in law loved it and often made it.  I often make this recipe at home because everyone loved eating sweet dishes.
White flour is mixed with ilaichi and then fried in a pan like halwa, then small balls of it are made, which are then fried in ghee to make it taste better.



दूध मोहन या दूध के फूल जिन्हें पारंपरिक तौर पर खर्चा मिठाई  कहा जाता है, यह डिश अधिकतर लखनऊ और फैज़ाबाद में बनायीं जाने वाली स्वीट डिश है, मेरे दिल के बहुत करीब है यह डिश।
इसे मैदे और दूध के साथ बनाया जाता है, मैदे के घोल को इलाइची पाउडर के साथ पका कर हलवे की तरह से तैयार किया जाता है और इसकी छोटी गोलियों को तल कर दूध में काफी सारी मेवा और चीनी के साथ पकाकर ठंडा या गर्म सर्व किया जाता है। 

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------
Preparation time----15 minutes
Cooking time-- 45 minutes
Serves--6
Type- Dessert

सामिग्री------

----------------------------------------------------

  1. फूल क्रीम दूध १ लीटर 
  2. मैदा २ बड़े चम्मच 
  3. चीनी स्वादनुसार अथवा २ बड़े चम्मच 
  4. मिल्क मेड १ बड़ा चम्मच 
  5. बारीक कटे काजू २ बड़े चम्मच 
  6. बारीक कटे बादाम २ बड़े चम्मच 
  7. बारीक कटे पिस्ते २ बड़े चम्मच 
  8. चिरौंजी २ बड़े चम्मच 
  9. इलायची पाउडर १+१  छोटा चम्मच 
  10. देसी घी १ बड़ा चम्मच और तलने के लिए 
  11. सजाने के लिए कटी मेवा और गुलाब की पत्ती 


बनाने की विधि-------

----------------------------------------------

  1. दूध को एक भरी तले के बरतन में उबलने के लिए चढ़ा दें और एक उबाल आने के बाद इसमें कटी  मेवा, चीनी, इलाइची पाउडर  और मिल्क मेड डालकर बहुत धीमी आंच पर चढ़ा दें बीच- बीच में चलाते रहे ताकि नीचे से जले नहीं।
  2. अब एक बर्तन में मैदे में इलाइची पाउडर और पानी डालकर पतला घोल बनाएं।
  3. अब एक पैन में  १ बड़ा चम्मच घी गरम करके इसमें इस घोल को लगातार चलाते हुए पकाएं जब तक की हलवे की तरह न हो जाये।
  4. अब इस मिश्रण से छोटी- छोटी गोलियां बनाकर इन्हें घी में बहुत धीमी आंच पर तलें , ध्यान रहे आंच तेज़ न करें अन्यथा गोलियां फट जाएँगी। इनको तलने में कम से कम १५ मिनट लगेंगे।
  5. अब इन तली हुई गोलियों को दूध में डालें और ५ से ८ मिनट के लिए और पका लें।
  6. गुलाब की पत्ती मेवा से सजा कर ठंडा या गर्म सर्व करें ।


Ingredients ------

-----------------------------------------------------------------------

  1. Full cream milk 1 litter
  2. Refined flour 2 tbsp
  3. Sugar as per taste or 2 tbsp
  4. Milk made 1 tbsp
  5. Chopped cashew nut 2 tbsp
  6. Chopped almonds 2 tbsp
  7. Chiraonji 2 tbsp
  8. Pistachio 2 tbsp
  9. Green cardamom powder 1+1  tsp
  10. Pure ghee 1 tbsp + for frying
  11. chopped nuts and rose petal for garnish 


Recipe Procedure-----

------------------------------------------------------------------------

  1. Boil milk in a heavy bottom pan. After boiling, add chopped nuts, milk made, cardamom powder   and turn the heat to low.  Keep stirring occasionally.
  2. In a bowl add flour, cardamom powder and make a thin batter by adding water.
  3. Heat 1 tbsp ghee in a pan and add batter cook while string continuously till its reaches the consistency of a halwa.
  4. Now make small balls from this mixture, heat the ghee in another pan turn the heat to slow and fry the balls till they turn golden. It will take 15 minute per batch.
  5. Now add the fried balls in milk and cook for 5 to 8 minutes more.
  6. Switch off the gas and garnish with chopped nuts. Serve chilled.
--------------------------------------------------------------------------------



Note -- Always cook the ball on low heat to avoid them from bursting . 

Sunday, December 18, 2016

Bathua Urad Dal/ Sagpaita/ सग्पैता / उरद और बथुए की दाल




--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

Sagpaita is a North Indian recipe which is made with pulses and bathua or spinach. People often make it with green moong dal or chana dal. But at our home it is made with bathua ka saag and black urad dal and is given tadka by garlic, heeng and dry whole red chili.
It is best served with besan or bajara chapati and roasted tomato chutney.
It is mostly made during winters as bathua is only available in this season. You can also make it by adding spinach or both saag. But with urad dal, bathua combination is mostly preferred.
These days, desi tomatoes are available which can be roasted and can be made into salad by adding onions and green chillies or serve with simple onion and fresh green chili pickle.


सग्पैता या साग वाली दाल उत्तर भारत की रेसिपी है जिसे दाल के साथ साग डालकर बनाया जाता है. कुछ लोग इसे हरी मूंग दाल, धुली उरद दाल या फिर चना दाल के साथ बनाते हैं लेकिन हम इसे काली छिलके वाली उरद की दाल के साथ बथुए का साग डालकर बनाते हैं और जिसे लहसुन, हींग और सूखी मिर्च के तड़के के साथ तैयार करते हैं.
इसके साथ भुने टमाटर और हरी प्याज़ की सलाद और चटनी या फिर केवल ताज़ी हरी मिर्च का अचार दिया जा सकता है, आप इसे गेंहू की रोटी, बेसन या फिर बाजरे की रोटी के साथ सर्व कर सकते हैं, ठण्ड के दिनों में बथुआ आसानी से मिल जाता है इसलिए जाड़ों में यह दाल अधिक बनायीं जाती है।
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

preparation time-- 25 minutes
cooking time--15 mintues
serves-- 4

--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

सामिग्री---------



  1. उरद की छिलके वाली दाल २ कप 
  2. बथुए का साग १०० ग्राम 
  3. नमक स्वादानुसार 
  4. लाल मिर्च पाउडर १ छोटा चम्मच 
  5. सूखी लाल मिर्च ४ नग 
  6. लहसुन की कलियाँ ८ से १० 
  7. हींग १ छोटा चम्मच 
  8. अदरक १ पीस बारीक कटा 
  9. हरी मिर्च १ चम्मच बारीक कटी 
  10. देशी घी २ बड़े चम्मच 


बनाने की विधि------


  1. दाल को साफ़ कर लें और धोकर ५ मिनट के लिए भिगो दें, बथुए को साफ़ करके अच्छी तरह से धो लें. 
  2. अब दाल को पानी डालकर एक उबाल आने दें फिर इसकी गन्दगी को ऊपर से निकाल दें, इसमें नमक, हरी मिर्च, लाल मिर्च पाउडर, बथुआ और अदरक डालकर कम से कम १५ मिनट या फिर दाल के गल जाने तक पका लें. 
  3. तड़के पैन में घी गरम कर लें इसमें हींग डालें फिर लहसुन को गुलाबी और कुरकुरा होने तक भूने कर लाल मिर्च तोड़कर डालें तड़के को दाल के ऊपर डालें।  गैस बंद करें। 
  4. अब गर्मागरम दाल को चपाती, बाजरे की रोटी, सलाद अचार के साथ सर्व करें । 

--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

ingredients -------

  1. Kali urad kid al 2 cup
  2. Bathua saag   100 gram
  3. Salt as per taste 
  4. Red chilli powder 1 tsp
  5. Whole red chilli 4 no
  6. Garlic cloves 8 to 10
  7. Ginger 1 piece finely chopped 
  8. heeng 1/2 tsp
  9. Green chilli 2 no finely chopped
  10. Desi ghee 2 tbsp


Method------



  1. wash and soak the dal for 5 minutes, Clean, wash and finely cut the bathua.
  2. Now add dal and water let it come to a boil then discard the dirt of dal, add chopped bathua, red chili,salt, chopped ginger and chopped green chili, cook the dal for 15 minutes or till tender.
  3. Heat the ghee in tadka pan add heeng, fry the garlic when the garlic become golden and crisp add broken whole red chili pour the tadka onto the dal. switch off the gas. 
  4. Serve with bajra or normal chapati with salad or pickle.

--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




Saturday, November 26, 2016

Mutton Do Pyaza / Gost Do Pyaza/ मटन दो प्याज़ा


--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

Famous mutton do pyiaza recipe is prepared with a large amount of onions. Mutton Do Pyiaza cooked with fresh goat meat, onion, curd, dry and whole spices.

Preparation time--2 hour
Cooking time--60 minutes
Serves--4
Recipe type non-veg
Taste -- spicy


======================================================================

सामिग्री------

  1. मटन १/१/२ किलो 
  2. प्याज़ ६ (३ बारीक कटे और ३ स्लाइस की हुई)
  3. तेल ८ बड़े चम्मच 
  4. अदरक की पेस्ट २ बड़े चम्मच 
  5. लहसुन की पेस्ट २ बड़े चम्मच 
  6. दालचीनी १ टुकड़ा 
  7. हरी इलाइची ८ नग 
  8. मोटी  इलाइची २ नग 
  9. नमक स्वादानुसार 
  10. लौंग ८ नग 
  11. जीरा १ छोटा  चम्मच 
  12. जीरा पाउडर २ छोटे चम्मच 
  13. धनिया पाउडर १ बड़ा चम्मच 
  14. हल्दी पाउडर १ छोटा चम्मच 
  15. लाल मिर्च पाउडर २ छोटे चम्मच 
  16. गरम मसाला पाउडर १/२ चम्मच 
  17. फेंट हुआ दही १/१/२ कप 
  18. धनिया पत्ती और हरी मिर्च सजाने के लिए 

बनाने की विधि------

  1. सबसे पहले मटन को साफ करके धो लें। 
  2. अब कढ़ाही में तेल गरम कर लें और स्लाइस की हुई प्याज़ को सुनहरा तल कर निकाल लें और इसी तेल में जीरा, हरी इलाइची, लौंग, दालचीनी और मोटी इलाइची को चटका कर मटन डालें और १० मिनट के लिए चलाते हुए भून कर मटन निकाल लें। 
  3. अब इसी में बारीक कटी प्याज़ को सुनहरा भून कर अदरक, लहसुन की पेस्ट को भून लें। 
  4. अब हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और जीरा पाउडर डालें  २ मिनट भून लें १/२ कप पानी के साथ मसाले को तेल छोड़ने तक भून लें। 
  5. अब मटन, दही और तली हुई प्याज़ को डालकर तब तक भूने जब तक सारा पानी सूख न जाये। 
  6. अब २  गिलास पानी डालकर मटन को गलने तक धीमी आंच पर पका लें और गैस बंद कर दें। 
  7. धनिया पत्ती और हरी मिर्च से सजा कर चपाती या फिर पराठों के साथ सर्व करें । 

Ingredients ----


  1. Mutton 1/1/2 kg
  2. Onion  6 nos (3 finely chopped and 3 sliced)
  3. oil 8 tbsp
  4. Ginger paste 2 tsp
  5. Garlic paste 2 tsp
  6. Cinnamon 1 stick
  7. Green cardamom 8 nos
  8. Black cardamom 2 nos
  9. Salt to taste
  10. Cloves 8 nos.
  11. Cumin seeds 1 tsp
  12. Cumin powder 2 tsp
  13. Turmeric powder 1 tsp
  14. Red chili powder 2 tsp
  15. Coriander powder 1 tbsp
  16. Garam masala powder 1/2 tsp 
  17. Curd whipped 1/1/2 cup
  18. Coriander leaves and green chili for garnish


Method-------

  1. Clean and wash the mutton.  
  2. Heat oil and golden fry the sliced onion keep aside. add cumin seeds, green and black cardamom, cinnamon, cloves as they pops add mutton sear the mutton for 10 minutes then keep out the mutton pieces.
  3. Add chopped onion fry till golden, saute the ginger, garlic paste.
  4. Now add dry spices , turmeric, red chili, cumin powder  and coriander powder, 1 /2 cup water  and cook the spices till oil separates.
  5. Add mutton, fried onion  and curd stir continuously and cook till all the water evaporates.
  6. Now add 2  glass water and cook for 15 minutes on slow flame. Add  Garam Masala . 
  7. Switch off the gas, garnish with green chili and coriander leaves serve with chapati or paratha .

======================================================================

NOTE -----Add the spices as per choice.  If you want gravy increase the quantity of water.  

Tuesday, November 8, 2016

Kheel paniyaram / खील पनियारम



The paniyaram tawa is a tawa with several dents in it. It is also used to make appe.


                      अक्सर जब हम इडली या डोसा बनाते हैं तो उसका बैटर बच जाता है और उसमें थोड़ी सी सब्जी या सिर्फ प्याज़ डालकर सरसों दाने और करि पत्ता का छौंक लगाकर पनियारम बना लिया जाता है, पनियारम साउथ की एक बहुत ही सेहतमंद नास्ते की रेसिपी है।
                     इसको बनाने के लिए स्पेशल बर्तन की आवश्यकता होती है जिसे पनियारम पैन कहते हैं और जिसमें गोल गड्ढे बने होते हैं जिसमें इस बैटर को डालकर माध्यम आंच पर पकाया जाता है।
                    पारंपरिक तौर पर पनियारम या तो इडली बैटर से या फिर सूजी को भिगो कर तैयार किया जाता है पर यहाँ मैंने इसे खील से तैयार किया है, खील जो की दिवाली पर घरों में पूजा के लिए लायी जाती है और फिर या तो इधर- उधर रखी रहती है या फिर देने के काम आती है, मैंने पहले भी अपने ब्लॉग में खील की टिक्की की रेसिपी शेयर की है. इससे पनियारम भी बेहद स्वादिष्ट तैयार हुए है, मुझे आशा है की आप सबको भी पसंद आएंगे।


                        Paniyaram is a south Indian healthy breakfast dish. If you have leftover idli batter just add finely chopped vegetables and tempered  with curry leaves, mustard seeds and make them easily, serve with coconut chutney.
                        Paniyaram is made in a spacial cookware called paniyaram chitti. traditionally paniyaram made with fermented rice batter, paniyaram can make sweet and sour,   Here I gave a twist make these paniyaram with kheel (puffed rice) which we buy on diwali festival.
                        Since I have already made tikki by using kheel so this time I tried making kheel paniyaram which turned out quite tasty easy to make recipe.It happens quite often that the kheel used at Diwali is either distributed or is kept as it is. They turned out quite delicious, I hope you all liked it


  • Soaking time--- 2 hours
  • Preparation time--10 minutes
  • Cooking time --10 to 15 minutes
  • Serves--4 

सामिग्री------

  1. खील २ कप 
  2. सूजी २ कप 
  3. नमक स्वादानुसार 
  4. दही १/२ कप 
  5. बारीक कटी हरी मिर्च १ बड़ा चम्मच 
  6. बारीक कटी बीन्स २ बड़े चम्मच 
  7. कसी हुई गाजर २ बड़े चम्मच 
  8. लाल मिर्च पाउडर १/२ छोटा चम्मच 
  9. बारीक कटी प्याज़ १ बड़ा चम्मच 
  10. करी पत्ता १० से १२ 
  11. सरसों के दाने १ बड़ा चम्मच 
  12. ओलिव आयल २ बड़े चम्मच 

परोसने के लिए ----

  1. नारियल की या पुदीने की चटनी 
  2. सजाने के लिए करी पत्ता 

बनाने की विधि------

  1. सबसे पहले खील और सूजी के अलग- अलग भून लें और फिर मिक्सी में महीन पाउडर बना लें । 
  2. अब एक बड़े बरतन में सूजी, खील, नमक, लाल मिर्च, सारी सब्जियां, दही और पानी के साथ अच्छी तरह से मिलाकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। 
  3. तड़का पैन गरम करें १ छोटा चम्मच तेल गरम करें सरसों के दाने और करी पत्ता चातक कर तड़के को मिश्रण में डालें। 
  4. अब पनियारम पैन को गरम करें और सारे गड्ढों को हलके तेल से ग्रीस कर लें फिर चम्मच से घोल को इसमें भरें। 
  5. ढककर ४ से ५ मिनट एक तरफ पका कर ढक्कन खोले और  दूसरी तरफ पलट कर भी पका लें इसी प्रक्रिया को मिश्रण के ख़त्म हो जाने तक दोहरा लें । 
  6. गर्मागरम नारियल या फिर पुदीना चटनी के साथ सर्वे करें । 



    Ingredients-----         

  1. Kheel 2 cup
  2. Semolina 2 cup
  3. Salt to taste
  4. Curd 1/2 cup 
  5. Green chili chopped 1 tbsp
  6. Finely chopped beans 2 tbsp
  7. Grated carrot 2 tbsp
  8. Red chili powder 1/2 tsp
  9. Chopped onion 1 tbsp
  10. Curry leaves 10 to 12
  11. Mustard seeds 1 tbsp
  12. Olive oil 1 tbsp

For serving----


  1. coconut chutney or pudina chutney
  2. garnishing with curry leaves

Recipe Procedure -----


  1. Dry roast semolina and kheel separately and then make a fine powder.
  2. Take a large bowl, add semolina powder, kheel powder, salt, chopped vegetables, red chili powder,curd and water. Mix well all the ingredients and make a thick batter.  
  3. Heat a tadka pan. Add 1 tsp oil, pop the mustard seeds and curry leaves, pour the tadka in kheel mixture and mix it well.
  4. Heat the paniyaram tawa over medium heat and grease each dent with a little oil. Pour a ladleful of batter in each dent, drizzle oil cover and cook for 4 to 5 minutes til the undersides is done.
  5. Open the lid and turn them over using a wooden spoon and drizzle little oil and continue to cook for 4 to 5 minutes until both the sides are evenly cooked.
  6. Prepare more paniyaram similarly.
  7. Serve hot with chutney.

Thursday, November 3, 2016

ख्याल सेहत का मिनटों में





यूँ तो केला का स्वाद मीठा होता है पर शुगर लेवल कम करने में केला बेहद सहायक होता है , केले में  पाया जाने वाला स्टार्च इसनुलिन की संवेदन शीलता को बढ़ाने में अत्यधिक सहायक है साथ वजन कम करने में भी सहायक होता है यह एक मिथ है की केला डाइबिटीज़ के मरीजों को नहीं खाना चाहिए ऐसा नहीं है अध्ध्यनों में पाया गया है की केला शुगर के मरीजों के लिए एक उत्तम फल है और इसके सेवन से टाइप २ की डाइबिटीज़ पर नियंत्रण भी किया जा सकता है । सही तरीके से और सही मात्रा में केले का सेवन शुगर लेवल को नियंत्रित करने में काफी सहायक है । 

  1. केले में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व और इसके फायदे --
  2. केले में पानी की मात्रा ६४.३ प्रतिशत है । 
  3. केले में प्रोटीन की मात्रा १.३ प्रतिशत है । 
  4. कार्बोहाइट्रेड की मात्रा २४. ७ और साथ ही फैट की मात्रा ८.३ है । 
  5. केले में थाइमिन, नियासिन, और फोलिक एसिड पार्यप्त मात्रा में होता है । 
  6. इसके अतिरिक्त केले में विटामिन ए और बी भी काफी मात्रा में होता है । 
  7. इसमें पाया जाने वाला पोटैशियम ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए काफी लाभदायक होता है । 
  8. इसमें विटामिन बी-६ और विटामिन बी- १२ और मैग्नेशियम, लुइटेन शुगर के मरीज के लिए बेहद लाभदायी होता है । लयूटन और मैग्निशयम ऐंटीऑक्सिडेंट हैं जो मानव शरीर और मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखता है । 
  9. केले में काफी मात्रा में फाइबर पाया जाता है ।
  10. अल्सर के लिए केला रामबाण का काम करता है ।  
  11. आयरन की मात्रा अधिक होने के कारण खून की कमी को दूर करने में सहायक होता है । 
  12. इसके साथ ही केले का सेवन शरीर को चुस्त रखता है और तनाव को दूर करता है । 
  13. छोटे बच्चों को दूध में फेंट कर या पीस कर देने से उनका विकास अच्छे से होता है साथ ही दुबलापन भी दूर करता है । 
  14. एक या दो पीस केले को शहद के साथ मिलकर देने से सीने के दर्द में राहत मिलती है ।
  15. केला खाने से शुगर नहीं बढ़ती अतः शुगर के मरीज इसका सेवन उचित मात्रा में कर सकते है 

शुगर क्या है ---
डायबिटीज या शुगर या मधुमेह यूँ तो वंशानुगत बीमारी मानी गयी है यानी की यदि आपके माता या पिता में से किसी को भी मधुमेह है तो आपको इस बीमारी के होने का खतरा अधिक रहता है परंतु आज का लाइफस्टाइल भी इस बीमारी का प्रमुख कारण बनता जा रहा है,  जब पैंक्रियाज नामक ग्लाइंड  शरीर में इंसुलिन बनाना कम कर देता है या बंद कर देता है, तो यह बीमारी हो जाती है। इंसुलिन ब्लड में ग्लूकोज को कंट्रोल करने में मदद करता है। डायबीटीज खास तौर से दो तरह की होती है- 
१- इसमें इन्सुलिन हार्मोन बनना लगभग बिलकुल ही बंद हो जाता है और ऐसे में शरीर में ग्लूकोज़ की बढ़ी मात्रा पर कंट्रोल करने के लिए इन्सुलिन का इंजेक्शन लेने की आवश्यकता पड़ती है । 
२- इसमें इन्सुलिन बनता तो है पर कम मात्रा में और जिसके कारण पेनिक्रियाज़ सही ढंग से काम नहीं करते और जिसे दवा से नियंत्रित किया जा सकता है । 
आइये जानते हैं की मधुमेह के कारण क्या है ----
१. आज के हिसाब से देखें तो डाइबिटीज़ होने का मुख्य कारण खानपान और रहन- सहन है । 
२. यदि पहले परिवार में किसी को शुगर हुई है तो यह खतरा अधिक बढ़ जाता है । 
३. अत्यधिक तनाव और रक्तचाप । 
४. मोटापा और व्यायाम की कमी । 
जानते हैं इसके प्रमुख लक्षण क्या हैं ------

  1. मुख्य कारण है लगातर वजन का बढ़ते जाना । 
  2. आँखों में रौशनी की कमी का हो जाना । 
  3. बार- बार पेशाब आना । 
  4. हर समय कमजोरी लगना और नींद आती रहना । 
  5. चोट का जल्दी ठीक न होना । 
  6. भूख अधिक लगना । 
अब क्या इसका इलाज सम्भव है यह एक बड़ा प्रश्न है और क्या मधुमेह का टेस्ट कराने के लिए  हर वक़्त डॉक्टर के पास ही जाना पड़ेगा, हाँ इसका इलाज बिलकुल सम्भव है और साथ आप अपना शुगर लेवल न केवल साप्ताहिक, पाक्षिक या मासिक अपितु हर रोज़ आसानी से घर पर ही चेक कर सकते हैं और साथ ही जरूरी दवा के लिए सिर्फ एक बार ही डॉक्टर की सलाह लेकर निश्चिन्त हो सकते है क्योंकि अब आपके लिए  आ गया है, Alere Glucometer  यह एक ऐसी मशीन है जिसे आप आसानी से घर बैठे ही 
 snapdeal और flipkart के द्वारा online मंगा सकते है और इससे अपना शुगर केवल चेक कर सकते हैं । परिवार में किसी को भी यदि शुगर है चाहे वो बुजुर्ग ही क्यों न हों वो भी आसानी से अपना शुगर लेवल चेक कर सकते हैं ।
 Alere Glucometer  किस तरह से और क्या काम करती है --
यह आपके शुगर के लेवल को चेक करने के लिए  शुद्धता के आधार पर पूर्ण रूप से प्रमाणित एक छोटा सा उपकरण है जो अधिक काम किये बिना ही घर पर आपको अपना शुगर लेवल चेक करने के लिए मदद करता है ।
इसमें एक छोटी सी मीटर के रूप में मशीन होती है, एक आपके खून को निकालने के लिए सिरिंज जैसा उपकरण होता है ।और साथ ही स्ट्रिप्स  जिन्हें मशीन में इन्सर्ट करने के बाद आपका शुगर लेवल मालूम चल जाता है ।
इसकी स्ट्रिप्स स्वयं ही निकल जाती और चेक करने वाले को हाथ नहीं लगाना पड़ता है जिससे चेक करने वाले को किसी भी तरह का इन्फेक्शन होने का खतरा भी नहीं रहता है ।

इससे अपना शुगर लेवल चेक करना बिलकुल मुशिकल नहीं है आप नीचे दिए चित्रो में देख सकते है की कितनी आसानी से सिर्फ ३ मिनट के अंदर आपको अपना शुगर लेवल मालूम चल जायेगा ।  आसानी से लैब जैसी सुविधा देने वाला उपकरण -


                                             
केवल ५ सेकंड के भीतर ही आपको आपका शुगर लेवल पता चल जायेगा ।
चूँकि इसमें ऑटोमेटिक स्ट्रिप इजेक्टर है जिससे इससे इसकी स्ट्रिप स्वयं ही निकल जाएगी और आपको हाथ लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, इस तरह किसी इन्फेक्शन का डर नहीं रहता है और प्रोयगकर्ता पूर्ण रूप से सुरक्षित रहता है
इसकी  स्ट्रिप्स  ९९.९ प्रतिशत गोल्ड प्लेटेड है, जिससे कि जब आप टेस्ट  करेंगे तब जिस तरह से आप लैब में टेस्ट कराकर संतुष्ट होते हैं उसी तरह इसका भी रिजल्ट आएगा।
आपकी सुविधा के लिए ऑटोमेटिक कोडेड है ताकि आपको बार- बार स्ट्रिप्स के मुताबिक कोड नहीं बदलना पड़ेगा।
और इसमें ५०० मैमोरी तक रिजल्ट सुरक्षित रहते हैं.
शुध्द प्रमाणित स्ट्रिप्स के साथ यह मशीन आप आसानी से कहीं भी जैसे ऑफिस, सफर अथवा और कहीं भी ले जा सकते हैं और बेफिक्र होकर कहीं भी अपना शुगर लेवल चेक कर सकते हैं । तो आज ही अपने लिए आर्डर कीजिये Alere Glucometer। 

अधिक जानकारी के लिए जाये www.alereg1glucometer.com


Information Source:
·        http://www.onlymyhealth.com/benefits-banana-in-hindi-1346050599

·        http://drblog.in/banana-kela-benefits-in-hindi/


Saturday, October 22, 2016

Rice firni / chawla ki firni/ फिरनी


Firni is a complete dessert after a grand main course, occasions, and any type of party. Prepared with grinned rice, sugar, milk and nuts. slow cooked creamy and delicious Firni is best served chilled, garnished with lots of nuts like almonds, cashew nuts, pistachio etc. Here I gave a twist on my Firni, add little powdered fennel and garnish with some rose petal. I just love the rose petal in my dessert garnishing which happens to be my favorite part.
Firni is also very popular dessert in north india. To is Diwali accha wala meetha ho jaye--

फिरनी चावल को पीस कर बनायीं जाने वाली मीठी डिश है जिसे हम अक्सर बड़े त्योहारों जैसे दीवाली, होली या किसी बड़ी पार्टी के लिए तैयार करते हैं, इसे फुल क्रीम दूध में इलाइची और केसर के साथ पकाया जाता है और जब तक मिश्रण क्रीम की तरह नहीं हो जाता तब तक लगातार चलाते हुए पकाते हैं इसमें पिस्ता, बादाम डाला जाता है यूँ तो फिरनी में केसर का फ्लेवर डाला जाता है पर यहाँ मैंने इसमें थोड़ा सा सौंफ का पाउडर भी डाला है जिसके इसका स्वाद काफी अच्छा हो गया है और साथ ही गुलाब की पत्ती से सजाया है जो की देखने में आँखों को बहुत लुभाता है।  तो चलिए इस बार दीवाली पर क्रीमी मीठा ही चख लिया जाये ---

Preparation time--- 25minutes
Cooking time--- 20 minutes
Serves-----4
Type dessert

सामिग्री-------

  1. बासमती चावल भीगे हुए २ बड़े चम्मच 
  2. चीनी २/३ कप या स्वादानुसार 
  3. दूध १/१/२ लिटिर फुल क्रीम 
  4. सौंफ का पाउडर १ बड़ा चम्मच 
  5. हरी इलाइची का पाउडर १ छोटा चम्मच 
  6. बारीक कटे बादाम २ बड़े चम्मच 
  7. बारीक कटे पिस्ते २ बड़े चम्मच 
  8. चुटकी भर केसर 
  9. गुलाब की पत्ती सजाने के लिए 
बनाने की विधि---------
  1. सबसे पहले १ बड़ा चम्मच कटी हुई मेवा सजाने के लिए अलग रख दें। 
  2. अब चावल का पानी निथार कर पीस कर दरदरा पेस्ट बना लें और इसे थोड़े से पानी में घोल लें ताकि गांठ न पड़े। 
  3. दूध को उबलने के लिए चढ़ा दें एक उबाल आने के बाद चावल की पेस्ट डालकर धीमी आंच पर चलाते हुए तब तक पकाएं जब तक चावल अच्छी तरह गल न जाये और मिश्रण क्रीमी न हो जाये। 
  4. अब इसमें चीनी, सौंफ, केसर, इलायची और कटी मेवा डालकर ५ से ६ मिनट के लिए और चलाते हुए पकाकर गैस बंद कर दें । 
  5. अब फिरनी को सर्विंग बाउल में डालें मेवा और गुलाब की पत्ती से सजा लें। 
  6. परोसने के १ घंटे पहले इसे फ़्रिज में रख दें। 



Ingredients -----

  1. Basmati rice soaked 5 tbsp
  2. Sugar 3/4 cup or as per taste
  3. Fennel powder 1 tbsp
  4. Full cream milk 1/1/2 litter
  5. Green cardamom powder 1 tsp
  6. Chopped pistachio 2 tbsp
  7. Chopped almonds 2 tbsp
  8. A pinch of saffron soaked in milk
  9. Rose petals for garnish


Method--------

  1. Keep 2 tbsp nuts for garnishing.
  2. Drain and grind the rice into a coarse paste, dissolve the paste in little cold or warm water.
  3. Bring milk to a boil then add rice paste and cook the rice and milk together till completely cooked. keep stirring it continuously so it dos not burn.  
  4. Now add sugar, soaked saffron, fennel powder, and nuts, cook for 5 minute more.
  5. pour into the serving bowl garnish with chopped nuts.
  6. Chill in refrigerator before serving for an hour. 

नोट---- लगातार चलाते हुए फिरनी या खीर को पकाना चाहिए ताकि नीचे से जल न जाये इस बात का हमेशा ही ध्यान रखना चाहिए । 



Monday, October 3, 2016

Palak ke patton ki vrat wali chat/ spinach leaves chat/ पालक के पत्तों की चाट



चाट अगर व्रत में खाने को मिल जाये तो बात ही क्या? यूँ तो हम चाट अक्सर साधारण दिनों में ही बनाते और खाते हैं लेकिन व्रत में इसे बनाने के लिए बहुत अधिक झंझट की आवश्यकता नहीं है और साथ ही स्वाद भी बहुत अच्छा है।  पालक के पत्तों को सिंघाड़े के आटे में लपेट कर तल कर ऊपर से दही, मीठी और खट्टी चटनी के साथ कुछ मसालों को डालकर इसे सर्व किया जाता है।

Delicious, crispy, fried palak leaves chat is one of my favorite dish. during fasting dayes loves to make any dish with spinach.  spinch is healthy veggi. spinch leaves coated with water chestnut flour along with little spices deep fried in the oil. serve with whipped curd, tamrind chutney, green chutey, roasted cumin powder and red chili powder. Normally we dont make chat in any fasting days but spinanch leaves chat is the best option for fasting. hope you all love this recipe.

preparation time---- 30 minutes
cooking time----15 minutes
serving time---5 minutes
serves----4
taste-- mild spicy 

सामग्री-------

बैटर के लिए------

  1. पालक के मध्यम आकार के पत्ते १६ से २० नग 
  2. सिंघाड़े का आटा १/१/२ कप 
  3. सेंधा नमक स्वादानुसार 
  4. लाल मिर्च पाउडर १ छोटा चम्मच 
  5. धनिया पाउडर १ बड़ा चम्मच 
  6. अदरक की पेस्ट १ बड़ा चम्मच 
  7. तेल तलने के लिए 

परोसने के लिए सामग्री----

  1. फेंटा हुआ गाढ़ा दही १/२ किलो 
  2. पिसी चीनी २ बड़े चम्मच 
  3. भुना जीरा पाउडर आवश्यकतानुसार 
  4. लाल मिर्च पाउडर आवश्यकतानुसार 
  5. इमली की चटनी 
  6. हरी चटनी 

Ingredients -----

For batter----


  1. Spinach leaves 16 to 20 medium size
  2. Singhade ka ata 1/1/2 cup
  3. Sendha namak as per taste
  4. Red chili powder 1 tsp
  5. Coriander powder 1 tbsp
  6. Ginger paste 1 tbsp
  7. Oil for frying 

For serving -------

  1. Whipped curd 1/2 kg 
  2. Sugar powder 2 tbsp
  3. Roasted cumin powder 1 tbsp or as required 
  4. Red chili powder as per taste
  5. Green chutney as required 
  6. Tamarind chutney as required 

बनाने की विधि------

  1. सबसे पहले एक बर्तन में सिंघाड़े का आटा लें इसमें नमक, मिर्च, धनिया पाउडर और अदरक की पेस्ट डालकर बैटर बनाएं न ज्यादा गाढ़ा और न ही ज्यादा पतला।
  2. अब दही को मलमल के कपडे में टांग दें ताकि सारा पानी निकल जाएं और इसमें चीनी म,मिलाकर अलग रख दें। 
  3. पालक के पत्तों को धोकर सूखा  लें.
  4. कढ़ाही में तेल गरम करें पत्तों को एक- एक करके बैटर में डुबो कर दोनों तरफ से कोट कर मध्यम आंच पर सुनहरा और कुरकुरा होने तक तलें, और इनको एक किचन पेपर पर निकाल लें ताकि अतिरिक्त तेल निथार जाये 
  5. अब ४ से ५ तले हुए पत्ते ऊपर से दही, इमली की चटनी, हरी चटनी डालें। 
  6. ऊपर से लाल मिर्च पाउडर और जीरा पाउडर बुरक कर सर्व करें। 

Method------


  1. Take water chestnut flour in a large bowl, add salt, singer paste, red chili powder and coriander powder. make a thin batter, rest the batter for a while 
  2. Tie yogurt in muslin cloth and remove the excess water, squeeze out the curd into a large bowl then add sugar mix well keep a side.
  3. Wash and dry the spinach leaves with muslin cloth. 
  4. Heat oil in a pan coat each leaf with batter on both side, deep fry in medium hot heat till golden and crisp. Drain on absorbent paper.
  5. Place 4-5 fried spinach in a serving plate, cover with whisked curd, drizzle some sweet and green chutney.
  6. Sprinkle red chili powder and cumin powder. 

नोट-- आप चाहें तो सिंघाड़े की जगह कुट्टू या फिर राजगीरे का आटा इस्तेमाल कर सकते हैं ।
Note---- You can either use Kuttu or Rajgira flour, as per choice.