Pageviews past week

Friday, October 18, 2013

hari mirch ka achar/हरी मिर्च का अचार

सर्दियाँ शुरू हो गयी हैं और इस मौसम में अचार वाली मिर्च बाजार में आने लग जाती है ,शुरू में तो  हरी मिर्च मिलती है और दिसम्बर के अंत में लाल मिर्च भी मिलने लग जाती है और अधिकतर लोग मिर्च का अचार या कोई भी अचार घर पर ही बनाना चाहते हैं ,क्योंकि घर पर बनाये गए अचार में कोई केमिकल नहीं मिलाये जाते है ,तो चलिए बना लेते हैं हरी मिर्च का अचार ---

सामिग्री----

  1. मोटी  वाली हरी मिर्च १ किलो . 
  2. नमक २ बड़े चम्मच। 
  3. हल्दी पाउडर १/१/२/ बड़ा चम्मच 
  4. काली मिर्च पाउडर १ छोटा चम्मच। 
  5. सौंफ ३  बड़े चम्मच। 
  6. अमचूर पाउडर १ बड़ा चम्मच। 
  7. सिरका २ छोटे चम्मच
  8. मेथी दाना १ बड़ा चम्मच. 
  9. चीनी १ छोटा चम्मच। 
  10. धनिया सूखा २ बड़े चम्मच। 
  11. olive  oil ३ से ४ बड़े चम्मच। 
ingredients  --------
  1. green chili 1 kg
  2. salt 2 tbsp
  3. turmeric pwoder1/1/2 tbsp
  4. black pepper pwoder 1 tsp
  5. fennel 3 tbsp
  6. dry mango pwoder 1 tbsp or to taste
  7. vinegar 2 tsp
  8. fenugreek seeds 1 tbsp
  9. sugar 1 tsp
  10. whole coriander 2 tbsp
  11. olive oil or veg oil 3 to 4 tbsp


विधि-------method ------------

  1. मिर्च को धो कर उसका सारा पानी कपड़े की सहायता से अच्छी तरह से पोंछ लें। और एक दिन के लिए धूप  में रखें। 
  2. wash chili soak  with muslin cloth  and keep in sun light for  a day
  3. एक कढ़ाही में सूखा धनिया ,सौंफ और मेथी दाना को dry  ही भून लें। 
  4. dry roast the coriander,fennel and fenugreek seeds.
  5. अब इसे मिक्सी में महीन दरदरा पीस लें 
  6.  coarsely grind the whole spices.
  7. अब सारे मसाले और तेल को एक साथ मिला कर रख लें। 
  8. now mix all ingredients with oil .
  9. मिर्च को बीच से चीरा लगा लें। 
  10. slit the chili and stuff with spice mixture.
  11. अब मसाले को मिर्चों में भर लें,और मिर्चों को एक कांच के मर्तबान में रखें। ऊपर से चाहें तो और तेल डालें अन्यथा ऐसे ही १ हफ्ते के लिए धूप में रखें ,
  12. keep in air tight container,,,, 
  13. खाने के लिए testy pickle तैयार है।               

 नोट-----आप चाहें तो मर्तबान को हींग से धुआं लगा सकते हैं इससे अचार जल्दी खराब नहीं होता है। हल्दी और नमक की मात्रा हमेशा ठीक होने से भी अचार सुरक्षित रहता है . सिरका भी pickle को सुरक्षित रखने में सहायक होता है । । ।