Pageviews past week

Saturday, November 26, 2016

Mutton Do Pyaza / Gost Do Pyaza/ मटन दो प्याज़ा






Famous mutton do pyiaza recipe is prepared with a large amount of onions. Mutton Do Pyiaza cooked with fresh goat meat, onion, curd, dry and whole spices.




Preparation time--2 hour
Cooking time--60 minutes
Serves--4
Recipe type non-veg
Taste -- spicy






 

 

सामिग्री :-



  1. मटन १/१/२ किलो 
  2. प्याज़ ६ (३ बारीक कटे और ३ स्लाइस की हुई)
  3. तेल ८ बड़े चम्मच 
  4. अदरक की पेस्ट २ बड़े चम्मच 
  5. लहसुन की पेस्ट २ बड़े चम्मच 
  6. दालचीनी १ टुकड़ा 
  7. हरी इलाइची ८ नग 
  8. मोटी  इलाइची २ नग 
  9. नमक स्वादानुसार 
  10. लौंग ८ नग 
  11. जीरा १ छोटा  चम्मच 
  12. जीरा पाउडर २ छोटे चम्मच 
  13. धनिया पाउडर १ बड़ा चम्मच 
  14. हल्दी पाउडर १ छोटा चम्मच 
  15. लाल मिर्च पाउडर २ छोटे चम्मच 
  16. गरम मसाला पाउडर १/२ चम्मच 
  17. फेंट हुआ दही १/१/२ कप 
  18. धनिया पत्ती और हरी मिर्च सजाने के लिए 




बनाने की विधि:- 



  1. सबसे पहले मटन को साफ करके धो लें। 
  2. अब कढ़ाही में तेल गरम कर लें और स्लाइस की हुई प्याज़ को सुनहरा तल कर निकाल लें और इसी तेल में जीरा, हरी इलाइची, लौंग, दालचीनी और मोटी इलाइची को चटका कर मटन डालें और १० मिनट के लिए चलाते हुए भून कर मटन निकाल लें। 
  3. अब इसी में बारीक कटी प्याज़ को सुनहरा भून कर अदरक, लहसुन की पेस्ट को भून लें। 
  4. अब हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और जीरा पाउडर डालें  २ मिनट भून लें १/२ कप पानी के साथ मसाले को तेल छोड़ने तक भून लें। 
  5. अब मटन, दही और तली हुई प्याज़ को डालकर तब तक भूने जब तक सारा पानी सूख न जाये। 
  6. अब २  गिलास पानी डालकर मटन को गलने तक धीमी आंच पर पका लें और गैस बंद कर दें। 
  7. धनिया पत्ती और हरी मिर्च से सजा कर चपाती या फिर पराठों के साथ सर्व करें । 



                                              

                                               Recipe In Englsih




Ingredients:-




  1. Mutton 1/1/2 kg
  2. Onion  6 nos (3 finely chopped and 3 sliced)
  3. oil 8 tbsp
  4. Ginger paste 2 tsp
  5. Garlic paste 2 tsp
  6. Cinnamon 1 stick
  7. Green cardamom 8 nos
  8. Black cardamom 2 nos
  9. Salt to taste
  10. Cloves 8 nos.
  11. Cumin seeds 1 tsp
  12. Cumin powder 2 tsp
  13. Turmeric powder 1 tsp
  14. Red chili powder 2 tsp
  15. Coriander powder 1 tbsp
  16. Garam masala powder 1/2 tsp 
  17. Curd whipped 1/1/2 cup
  18. Coriander leaves and green chili for garnish




Method :-

 

 

  1. Clean and wash the mutton.  
  2. Heat oil and golden fry the sliced onion keep aside. add cumin seeds, green and black cardamom, cinnamon, cloves as they pops add mutton sear the mutton for 10 minutes then keep out the mutton pieces.
  3. Add chopped onion fry till golden, saute the ginger, garlic paste.
  4. Now add dry spices , turmeric, red chili, cumin powder  and coriander powder, 1 /2 cup water  and cook the spices till oil separates.
  5. Add mutton, fried onion  and curd stir continuously and cook till all the water evaporates.
  6. Now add 2  glass water and cook for 15 minutes on slow flame. Add  Garam Masala . 
  7. Switch off the gas, garnish with green chili and coriander leaves serve with chapati or paratha .




======================================================================

NOTE -----Add the spices as per choice.  If you want gravy increase the quantity of water.  

Tuesday, November 8, 2016

Kheel paniyaram / खील पनियारम





The paniyaram tawa is a tawa with several dents in it. It is also used to make appe.



                   

  अक्सर जब हम इडली या डोसा बनाते हैं तो उसका बैटर बच जाता है और उसमें थोड़ी सी सब्जी या सिर्फ प्याज़ डालकर सरसों दाने और करि पत्ता का छौंक लगाकर पनियारम बना लिया जाता है, पनियारम साउथ की एक बहुत ही सेहतमंद नास्ते की रेसिपी है।
                     इसको बनाने के लिए स्पेशल बर्तन की आवश्यकता होती है जिसे पनियारम पैन कहते हैं और जिसमें गोल गड्ढे बने होते हैं जिसमें इस बैटर को डालकर माध्यम आंच पर पकाया जाता है।
                    पारंपरिक तौर पर पनियारम या तो इडली बैटर से या फिर सूजी को भिगो कर तैयार किया जाता है पर यहाँ मैंने इसे खील से तैयार किया है, खील जो की दिवाली पर घरों में पूजा के लिए लायी जाती है और फिर या तो इधर- उधर रखी रहती है या फिर देने के काम आती है, मैंने पहले भी अपने ब्लॉग में खील की टिक्की की रेसिपी शेयर की है. इससे पनियारम भी बेहद स्वादिष्ट तैयार हुए है, मुझे आशा है की आप सबको भी पसंद आएंगे।




                        Paniyaram is a south Indian healthy breakfast dish. If you have leftover idli batter just add finely chopped vegetables and tempered  with curry leaves, mustard seeds and make them easily, serve with coconut chutney.
                        Paniyaram is made in a spacial cookware called paniyaram chitti. traditionally paniyaram made with fermented rice batter, paniyaram can make sweet and sour,   Here I gave a twist make these paniyaram with kheel (puffed rice) which we buy on diwali festival.
                        Since I have already made tikki by using kheel so this time I tried making kheel paniyaram which turned out quite tasty easy to make recipe.It happens quite often that the kheel used at Diwali is either distributed or is kept as it is. They turned out quite delicious, I hope you all liked it.



  • Soaking time--- 2 hours
  • Preparation time--10 minutes
  • Cooking time --10 to 15 minutes
  • Serves--4 


सामिग्री :-



  1. खील २ कप 
  2. सूजी २ कप 
  3. नमक स्वादानुसार 
  4. दही १/२ कप 
  5. बारीक कटी हरी मिर्च १ बड़ा चम्मच 
  6. बारीक कटी बीन्स २ बड़े चम्मच 
  7. कसी हुई गाजर २ बड़े चम्मच 
  8. लाल मिर्च पाउडर १/२ छोटा चम्मच 
  9. बारीक कटी प्याज़ १ बड़ा चम्मच 
  10. करी पत्ता १० से १२ 
  11. सरसों के दाने १ बड़ा चम्मच 
  12. ओलिव आयल २ बड़े चम्मच 


परोसने के लिए:-

 

 

  1. नारियल की या पुदीने की चटनी 
  2. सजाने के लिए करी पत्ता 


बनाने की विधि :-

 

 

  1. सबसे पहले खील और सूजी के अलग- अलग भून लें और फिर मिक्सी में महीन पाउडर बना लें । 
  2. अब एक बड़े बरतन में सूजी, खील, नमक, लाल मिर्च, सारी सब्जियां, दही और पानी के साथ अच्छी तरह से मिलाकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। 
  3. तड़का पैन गरम करें १ छोटा चम्मच तेल गरम करें सरसों के दाने और करी पत्ता चातक कर तड़के को मिश्रण में डालें। 
  4. अब पनियारम पैन को गरम करें और सारे गड्ढों को हलके तेल से ग्रीस कर लें फिर चम्मच से घोल को इसमें भरें। 
  5. ढककर ४ से ५ मिनट एक तरफ पका कर ढक्कन खोले और  दूसरी तरफ पलट कर भी पका लें इसी प्रक्रिया को मिश्रण के ख़त्म हो जाने तक दोहरा लें । 
  6. गर्मागरम नारियल या फिर पुदीना चटनी के साथ सर्वे करें । 





               

                                       Recipe In Englsih 

 

 

 Ingredients :-

 

       

  1. Kheel 2 cup
  2. Semolina 2 cup
  3. Salt to taste
  4. Curd 1/2 cup 
  5. Green chili chopped 1 tbsp
  6. Finely chopped beans 2 tbsp
  7. Grated carrot 2 tbsp
  8. Red chili powder 1/2 tsp
  9. Chopped onion 1 tbsp
  10. Curry leaves 10 to 12
  11. Mustard seeds 1 tbsp
  12. Olive oil 1 tbsp

For serving :-


  1. coconut chutney or pudina chutney
  2. garnishing with curry leaves



Recipe Procedure:-



  1. Dry roast semolina and kheel separately and then make a fine powder.
  2. Take a large bowl, add semolina powder, kheel powder, salt, chopped vegetables, red chili powder,curd and water. Mix well all the ingredients and make a thick batter.  
  3. Heat a tadka pan. Add 1 tsp oil, pop the mustard seeds and curry leaves, pour the tadka in kheel mixture and mix it well.
  4. Heat the paniyaram tawa over medium heat and grease each dent with a little oil. Pour a ladleful of batter in each dent, drizzle oil cover and cook for 4 to 5 minutes til the undersides is done.
  5. Open the lid and turn them over using a wooden spoon and drizzle little oil and continue to cook for 4 to 5 minutes until both the sides are evenly cooked.
  6. Prepare more paniyaram similarly.
  7. Serve hot with chutney.

Thursday, November 3, 2016

ख्याल सेहत का मिनटों में





यूँ तो केला का स्वाद मीठा होता है पर शुगर लेवल कम करने में केला बेहद सहायक होता है , केले में  पाया जाने वाला स्टार्च इसनुलिन की संवेदन शीलता को बढ़ाने में अत्यधिक सहायक है साथ वजन कम करने में भी सहायक होता है यह एक मिथ है की केला डाइबिटीज़ के मरीजों को नहीं खाना चाहिए ऐसा नहीं है अध्ध्यनों में पाया गया है की केला शुगर के मरीजों के लिए एक उत्तम फल है और इसके सेवन से टाइप २ की डाइबिटीज़ पर नियंत्रण भी किया जा सकता है । सही तरीके से और सही मात्रा में केले का सेवन शुगर लेवल को नियंत्रित करने में काफी सहायक है । 

  1. केले में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व और इसके फायदे --
  2. केले में पानी की मात्रा ६४.३ प्रतिशत है । 
  3. केले में प्रोटीन की मात्रा १.३ प्रतिशत है । 
  4. कार्बोहाइट्रेड की मात्रा २४. ७ और साथ ही फैट की मात्रा ८.३ है । 
  5. केले में थाइमिन, नियासिन, और फोलिक एसिड पार्यप्त मात्रा में होता है । 
  6. इसके अतिरिक्त केले में विटामिन ए और बी भी काफी मात्रा में होता है । 
  7. इसमें पाया जाने वाला पोटैशियम ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए काफी लाभदायक होता है । 
  8. इसमें विटामिन बी-६ और विटामिन बी- १२ और मैग्नेशियम, लुइटेन शुगर के मरीज के लिए बेहद लाभदायी होता है । लयूटन और मैग्निशयम ऐंटीऑक्सिडेंट हैं जो मानव शरीर और मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखता है । 
  9. केले में काफी मात्रा में फाइबर पाया जाता है ।
  10. अल्सर के लिए केला रामबाण का काम करता है ।  
  11. आयरन की मात्रा अधिक होने के कारण खून की कमी को दूर करने में सहायक होता है । 
  12. इसके साथ ही केले का सेवन शरीर को चुस्त रखता है और तनाव को दूर करता है । 
  13. छोटे बच्चों को दूध में फेंट कर या पीस कर देने से उनका विकास अच्छे से होता है साथ ही दुबलापन भी दूर करता है । 
  14. एक या दो पीस केले को शहद के साथ मिलकर देने से सीने के दर्द में राहत मिलती है ।
  15. केला खाने से शुगर नहीं बढ़ती अतः शुगर के मरीज इसका सेवन उचित मात्रा में कर सकते है 

शुगर क्या है ---
डायबिटीज या शुगर या मधुमेह यूँ तो वंशानुगत बीमारी मानी गयी है यानी की यदि आपके माता या पिता में से किसी को भी मधुमेह है तो आपको इस बीमारी के होने का खतरा अधिक रहता है परंतु आज का लाइफस्टाइल भी इस बीमारी का प्रमुख कारण बनता जा रहा है,  जब पैंक्रियाज नामक ग्लाइंड  शरीर में इंसुलिन बनाना कम कर देता है या बंद कर देता है, तो यह बीमारी हो जाती है। इंसुलिन ब्लड में ग्लूकोज को कंट्रोल करने में मदद करता है। डायबीटीज खास तौर से दो तरह की होती है- 
१- इसमें इन्सुलिन हार्मोन बनना लगभग बिलकुल ही बंद हो जाता है और ऐसे में शरीर में ग्लूकोज़ की बढ़ी मात्रा पर कंट्रोल करने के लिए इन्सुलिन का इंजेक्शन लेने की आवश्यकता पड़ती है । 
२- इसमें इन्सुलिन बनता तो है पर कम मात्रा में और जिसके कारण पेनिक्रियाज़ सही ढंग से काम नहीं करते और जिसे दवा से नियंत्रित किया जा सकता है । 
आइये जानते हैं की मधुमेह के कारण क्या है ----
१. आज के हिसाब से देखें तो डाइबिटीज़ होने का मुख्य कारण खानपान और रहन- सहन है । 
२. यदि पहले परिवार में किसी को शुगर हुई है तो यह खतरा अधिक बढ़ जाता है । 
३. अत्यधिक तनाव और रक्तचाप । 
४. मोटापा और व्यायाम की कमी । 
जानते हैं इसके प्रमुख लक्षण क्या हैं ------

  1. मुख्य कारण है लगातर वजन का बढ़ते जाना । 
  2. आँखों में रौशनी की कमी का हो जाना । 
  3. बार- बार पेशाब आना । 
  4. हर समय कमजोरी लगना और नींद आती रहना । 
  5. चोट का जल्दी ठीक न होना । 
  6. भूख अधिक लगना । 
अब क्या इसका इलाज सम्भव है यह एक बड़ा प्रश्न है और क्या मधुमेह का टेस्ट कराने के लिए  हर वक़्त डॉक्टर के पास ही जाना पड़ेगा, हाँ इसका इलाज बिलकुल सम्भव है और साथ आप अपना शुगर लेवल न केवल साप्ताहिक, पाक्षिक या मासिक अपितु हर रोज़ आसानी से घर पर ही चेक कर सकते हैं और साथ ही जरूरी दवा के लिए सिर्फ एक बार ही डॉक्टर की सलाह लेकर निश्चिन्त हो सकते है क्योंकि अब आपके लिए  आ गया है, Alere Glucometer  यह एक ऐसी मशीन है जिसे आप आसानी से घर बैठे ही 
 snapdeal और flipkart के द्वारा online मंगा सकते है और इससे अपना शुगर केवल चेक कर सकते हैं । परिवार में किसी को भी यदि शुगर है चाहे वो बुजुर्ग ही क्यों न हों वो भी आसानी से अपना शुगर लेवल चेक कर सकते हैं ।
 Alere Glucometer  किस तरह से और क्या काम करती है --
यह आपके शुगर के लेवल को चेक करने के लिए  शुद्धता के आधार पर पूर्ण रूप से प्रमाणित एक छोटा सा उपकरण है जो अधिक काम किये बिना ही घर पर आपको अपना शुगर लेवल चेक करने के लिए मदद करता है ।
इसमें एक छोटी सी मीटर के रूप में मशीन होती है, एक आपके खून को निकालने के लिए सिरिंज जैसा उपकरण होता है ।और साथ ही स्ट्रिप्स  जिन्हें मशीन में इन्सर्ट करने के बाद आपका शुगर लेवल मालूम चल जाता है ।
इसकी स्ट्रिप्स स्वयं ही निकल जाती और चेक करने वाले को हाथ नहीं लगाना पड़ता है जिससे चेक करने वाले को किसी भी तरह का इन्फेक्शन होने का खतरा भी नहीं रहता है ।

इससे अपना शुगर लेवल चेक करना बिलकुल मुशिकल नहीं है आप नीचे दिए चित्रो में देख सकते है की कितनी आसानी से सिर्फ ३ मिनट के अंदर आपको अपना शुगर लेवल मालूम चल जायेगा ।  आसानी से लैब जैसी सुविधा देने वाला उपकरण -


                                             
केवल ५ सेकंड के भीतर ही आपको आपका शुगर लेवल पता चल जायेगा ।
चूँकि इसमें ऑटोमेटिक स्ट्रिप इजेक्टर है जिससे इससे इसकी स्ट्रिप स्वयं ही निकल जाएगी और आपको हाथ लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, इस तरह किसी इन्फेक्शन का डर नहीं रहता है और प्रोयगकर्ता पूर्ण रूप से सुरक्षित रहता है
इसकी  स्ट्रिप्स  ९९.९ प्रतिशत गोल्ड प्लेटेड है, जिससे कि जब आप टेस्ट  करेंगे तब जिस तरह से आप लैब में टेस्ट कराकर संतुष्ट होते हैं उसी तरह इसका भी रिजल्ट आएगा।
आपकी सुविधा के लिए ऑटोमेटिक कोडेड है ताकि आपको बार- बार स्ट्रिप्स के मुताबिक कोड नहीं बदलना पड़ेगा।
और इसमें ५०० मैमोरी तक रिजल्ट सुरक्षित रहते हैं.
शुध्द प्रमाणित स्ट्रिप्स के साथ यह मशीन आप आसानी से कहीं भी जैसे ऑफिस, सफर अथवा और कहीं भी ले जा सकते हैं और बेफिक्र होकर कहीं भी अपना शुगर लेवल चेक कर सकते हैं । तो आज ही अपने लिए आर्डर कीजिये Alere Glucometer। 

अधिक जानकारी के लिए जाये www.alereg1glucometer.com


Information Source:
·        http://www.onlymyhealth.com/benefits-banana-in-hindi-1346050599

·        http://drblog.in/banana-kela-benefits-in-hindi/